वनोन्मूलन क्या है, परिभाषा, रोकथाम के उपाय

वनोन्मूलन(Vannomoolan)

वनोन्मूलन के कारण शीतोषण क्षेत्रों के वनों में 1 प्रतिशत तथा उष्ण कटिबन्धीय वनों में 40 प्रतिशत की कमी आयी है।भारत में वनों का प्रतिशत:- 20 वीं सदी के प्रारंभ में 30 प्रतिशत20 वीं सदी के अन्त में 19.4 प्रतिशत वन होने चाहिए राष्ट्रीय वन नीति के अनुसार मैदानी क्षेत्रों में 33 प्रतिशत और पहाडी क्षेत्रों में 67 प्रतिशत

वनोन्मूलन के कारण(Causes of deforestation):-

1 .कृषि के कारण वनों का काटा जाना, सर्वाधिक नुकसान काटों और जमाओं झूम कृषि के कारण हुआ है।

2.अवाधिक चराई

3. सिंचाई के गलत तरीके

4. वृक्ष एवं वनोत्पाद प्राप्त करने के लिएवनों का काटा जाना

5. जनसंख्या वृद्धि के कारण अवासीय बस्तियाँ, सडक आदि बनाने के कारण

प्रभाव(effects):-

1. वातावरण में CO2 की सान्द्रता बढना।

2. वैश्विक उष्णता में वृद्धि।

3. जल-चक्र का अनियमित होना।

4. मृदा अपरदन एवं मृरूस्थलीकरण।

5. जैव विविधता में कमी

6. परितंत्र असन्तुलित

रोकथाम के उपाय(Preventions):-

पुर्नवनीकरण:- काटे गये स्थान पर पुनः वृक्ष लगाना

वन संरक्षण हेतु सामाजिक प्रयास – एक अध्ययन(Social efforts for forest conservation – a study):-

1773 में खेजडल जोधपुर की अमृता देवी विश्नोई ने अपने परिवार एवं सैकडों लोगों के साथ पेडों को बचाने के लिए अपनी जाने दी।

1. सरकार द्वारा अमृता देवी विश्नोई वन संरक्षण पुरस्कार दिया जाता है

 2. 1974 में हिमालय के गढवाल क्षेत्र में पेडों की रक्षा के लिए चिपको आन्दोलन चलाया गया।

 3. इसी प्रकार सरकार ने सामाजिक भागीदारी बढाने के लिए संयुक्त वन प्रबंधन की नीति प्रारंभ की । सके तहत वनो की सुरक्षा का जिम्मा स्थानीय समुदाय का होगा तथा इसके बदले में वे वनोत्पाद प्राप्त कर सकेगें।

FAQs

  • वनोन्मूलन की क्या हानियाँ हैं?

    वनोन्मूलन से मृदा अपरदन और क्षरण की समस्या उत्पन्न होती है। झूम कृषि, दक्षिणी एवं दक्षिणी-पूर्वी एशिया के पहाड़ी क्षेत्रों में वनों के क्षय एवं विनाश का एक मुख्य कारण है। कृषि की इस प्रथा में पहाड़ी ढालों पर वनों को जलाकर उस भूमि पर खेती की जाती है। ।

  • वनोन्मूलन के कारक और उनके प्रभाव क्या है?

    खेती के लिए भूमि, औद्योगीकरण, शहरीकरण, दावानल, भीषण सूखा आदि वनोन्मूलन के कारक हैं। वनोन्मूलन के कारण प्राकृतिक आपदाओं की संभावनाएँ बढ़ है यहीं, प्रदूषण बढ़ता जा रहा है, विश्व ऊष्णन, भूमि के उपजाऊपन में कमी आदि से पृथ्वी पर जीवन का संकट उत्पन्न हो रहा है। कुछ आदिवासी वन ( जंगल ) पर निर्भर करते हैं।

  • मध्यप्रदेश में वनोन्मूलन का मुख्य कारण क्या है?

    वनोन्मूलन का सबसे सामान्य कारण जलाने के लिये, इमारती लकड़ी के लिये और कागज के लिये लकड़ी काटना है। दूसरा मुख्य कारण है खेती के लिये भूमि की आवश्यकता, इसमें फसलों और चारागाह ही जरूरतें भी निहित हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.